समय रूपी अमूल्य उपहार का एक क्षण भी आलस्य और प्रमाद में नष्ट न करें।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

Gayatri is the mantra which imparts true wisdom.

By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

यदि मनुष्य सीखना चाहे, तो उसकी प्रत्येक भूल कुछ न कुछ सिखा देती है।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

ಪರಮೇಶ್ವರನ ಪ್ರೀತಿ ಕೇವಲ ಸದಾಚಾರಿ ಮತ್ತು ಕರ್ತವ್ಯ ಪರಾಯಣರಿಗೆ ಮೀಸಲಾಗಿದೆ.


ಪಂ. ಶ್ರೀರಾಮ ಶರ್ಮಾ ಆಚಾರ್ಯ


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

सौन्दर्य फैशन में नहीं, वरन् हृदय के आदर्श गुणों में है।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

नारी परिवार का हृदय है। परिवार का संपूर्ण अस्तित्व तथा वातावरण नारी पर- सुगृहिणी पर निर्भर करता है।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

प्रार्थना उसी की सार्थक है, जो आत्मा को परमात्मा से घुला देने के लिए व्याकुलता लिए हुए हो।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

ಸದಜ್ಞಾನ ಹಾಗೂ ಸತ್ಯ ಮಾರ್ಗಗಳು ಈಶ್ವರನು ದಯಪಾಲಿಸಿದ ಎರಡು ರೆಕ್ಕೆಗಳು. ಇವುಗಳು ಬಲದಿಂದ ಸ್ವರ್ಗದವರೆಗೂ ಹಾರಬಹುದು.


ಪಂ. ಶ್ರೀರಾಮ ಶರ್ಮಾ ಆಚಾರ್ಯ


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

आत्म निर्माण ही युग निर्माण है।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

जिस प्रकार राष्ट्र की जननी नारी, होगी, राष्ट्र भी उसी प्रकार का बनेगा।

By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

चाहे कितनी भी प्रतिकूलताएँ आएँ, तुम्हें लक्ष्य अवश्य पूरा करना है।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email

ईश्वर भक्ति का अर्थ होता है- आदर्शों के प्रति असीम प्यार।


By Pandit Shriram Sharma Acharya
Share on Google+ Email