• सफल सार्थक जीवन
  • प्रगति की आकांक्षा
  • सुव्यवस्थित पारिवारिक संबंध
  • बाल निर्माण
  • मानवीय गरिमा
  • गायत्री और यज्ञ
  • भारतीय संस्कृति
  • धर्म और विज्ञान
  • समय का सदुपयोग
  • स्वस्थ जीवन
  • आध्यात्मिक चिंतन धारा
  • भाव संवेदना
  • शांतिकुंज -21 वीं सदी की गंगोत्री
  • कर्मफल और ईश्वर
  • स्वाध्याय और सदविचार
  • प्रेरक विचार
  • समाज निर्माण
  • युग निर्माण योजना
  • वेदो से दिव्य प्रेरणाये
  • शिक्षा और विद्या
  • परमात्मा अपने अनुग्रह आत्म- विश्वासी पर बरसाता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    मन को स्वच्छ बनाना हमारे चेतन जगत् का सबसे बड़ा पुरुषार्थ है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    बड़प्पन सादगी और शालीनता में है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    अपनी वाक्शक्ति का दुरुपयोग न करें।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सलाह सबकी सुनो, पर करो वह जिसके लिए तुम्हारा साहस और विवेक समर्थन करे।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    मनुष्य कर्म करने में स्वतंत्र है; परन्तु इनके परिणामों में चुनाव की कोई सुविधा नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    भगिनी निवेदिता-  "निखिल विश्व में नारियाँ ही मानवों के नैतिक आदर्शों की संरक्षिका है।‘‘


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    घर में टँगे हुए जो चित्र, घोषित करते व्यक्ति- चरित्र।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जो व्यक्ति सन्ध्या के डूबते हुए सूर्य को देखकर दुःखी होता है और प्रातः के सुनहरे अरुणोदय पर विश्वास नहीं करता, वह नास्तिक है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    दुष्टों की उपेक्षा करना सज्जनों की राह पर काँटे बिखेरने के समान है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ज्ञान की गहराई तथा व्यवहार की मधुरता और श्रेष्ठता ही विद्यार्थी जीवन की सफलता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    परिश्रम ही स्वस्थ जीवन का मूलमंत्र है।

    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email