• सफल सार्थक जीवन
  • प्रगति की आकांक्षा
  • सुव्यवस्थित पारिवारिक संबंध
  • बाल निर्माण
  • मानवीय गरिमा
  • गायत्री और यज्ञ
  • भारतीय संस्कृति
  • धर्म और विज्ञान
  • समय का सदुपयोग
  • स्वस्थ जीवन
  • आध्यात्मिक चिंतन धारा
  • भाव संवेदना
  • शांतिकुंज -21 वीं सदी की गंगोत्री
  • कर्मफल और ईश्वर
  • स्वाध्याय और सदविचार
  • प्रेरक विचार
  • समाज निर्माण
  • युग निर्माण योजना
  • वेदो से दिव्य प्रेरणाये
  • शिक्षा और विद्या
  • संसार में आया हर प्राण माँ से अधिक और किसी का ऋणी नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    शुद्ध और निश्छल हृदय से तन्मयता की अवस्था में ही ईश्वरीय वाणी सुनी जा सकती है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    परमात्मा अहंकारी से जितना अप्रसन्न होता है उतना और किसी से नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ज्ञान प्राप्ति के लिए निरन्तर प्रयत्नशील रहें।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    मनुष्य का जीवन उसके विचारों का प्रतिबिम्ब है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    बड़प्पन सादगी, संजीदगी, सज्जनता और सुव्यवस्था में सन्निहित रहता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    देवता और कोई नहीं, मनुष्य शरीर में निवास करने वाली सत्प्रवृत्तियाँ ही हैं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सबकी मंगल कामना करो, इससे आपका भी मंगल होगा।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    नारी गुण- सौन्दर्य बढ़ाएँ, आभूषण नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    मनुष्य जन्म सरल है, पर मनुष्यता कठिन प्रयत्न करके कमानी पड़ती है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ईश्वर दिव्य चेतना है। अतः उसे सद्गुणों और सत्प्रवृत्तियों के रूप में ही देखा जा सकता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    उच्च विचार सेना से अधिक बलवान् हैं। जिसके पास सिद्धान्तों की शक्ति है, वह कहीं भी हारता नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email