• सफल सार्थक जीवन
  • प्रगति की आकांक्षा
  • सुव्यवस्थित पारिवारिक संबंध
  • बाल निर्माण
  • मानवीय गरिमा
  • गायत्री और यज्ञ
  • भारतीय संस्कृति
  • धर्म और विज्ञान
  • समय का सदुपयोग
  • स्वस्थ जीवन
  • आध्यात्मिक चिंतन धारा
  • भाव संवेदना
  • शांतिकुंज -21 वीं सदी की गंगोत्री
  • कर्मफल और ईश्वर
  • स्वाध्याय और सदविचार
  • प्रेरक विचार
  • समाज निर्माण
  • युग निर्माण योजना
  • वेदो से दिव्य प्रेरणाये
  • शिक्षा और विद्या
  • भक्ति का अर्थ है- श्रेष्ठता से प्रगाढ़ स्नेह।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जैसा खायें अन्न, वैसा बने मन।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जीवन का हर क्षण उज्ज्वल भविष्य की संभावना लेकर आता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जिनकी तुम प्रशंसा करते हो, उनके गुणों को अपनाओ।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    उपासना परमात्मा की, साधना अन्तरात्मा की और आराधना विश्वात्मा की करें।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जीवन का प्रत्येक क्षण एक सुअवसर है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    पहले लक्ष्य बाँधो फिर बढ़ो, अन्यथा बिना लक्ष्य का जीवन गड्ढे में गिरता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    अखण्ड ज्योति हमारी वाणी है। जो उसे पढ़ते हैं, वे ही हमारी प्रेरणाओं से परिचित होते हैं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ईर्ष्या और द्वेष की आग में जलने वाले अपने लिए सबसे बड़े शत्रु हैं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    गृहस्थाश्रम ही समाज के संगठन, मानवीय मूल्यों की स्थापना, समाज निष्ठा, भौतिक विकास के साथ- साथ मनुष्य के आध्यात्मिक- मानसिक विकास का क्षेत्र है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    परमात्मा की ओर जाने वाला ज्ञानदान करना सर्वश्रेष्ठ भगवद्भक्ति है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    विचारों के परिमार्जन के लिए स्वाध्याय आवश्यक है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email