• सफल सार्थक जीवन
  • प्रगति की आकांक्षा
  • सुव्यवस्थित पारिवारिक संबंध
  • बाल निर्माण
  • मानवीय गरिमा
  • गायत्री और यज्ञ
  • भारतीय संस्कृति
  • धर्म और विज्ञान
  • समय का सदुपयोग
  • स्वस्थ जीवन
  • आध्यात्मिक चिंतन धारा
  • भाव संवेदना
  • शांतिकुंज -21 वीं सदी की गंगोत्री
  • कर्मफल और ईश्वर
  • स्वाध्याय और सदविचार
  • प्रेरक विचार
  • समाज निर्माण
  • युग निर्माण योजना
  • वेदो से दिव्य प्रेरणाये
  • शिक्षा और विद्या
  • आज का नया दिवस हमारे लिए एक अनमोल अवसर है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ईश्वर निष्पक्ष न्यायकारी है। उसके दरबार में किसी का मूल्य उसकी प्रामाणिकता एवं परमार्थ परायणता के आधार पर ही आँका जाता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    आशावाद और ईश्वरवाद एक ही रहस्य के दो नाम हैं।



    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सार्थकता उसी शिक्षा की है जो छात्र को विनम्र, सुव्यवस्थित और आदर्शवादी बना सके।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    ज्ञान और आचरण में जो सामंजस्य पैदा कर सके, उसे ही विद्या कहते हैं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जवानी का अर्थ है - निर्भयता और कुछ नया करने, नये- नये अनुभव करने की भूख।



    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    स्वच्छता सभ्यता का प्रथम सोपान है।

    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    कामना करने वाले कभी भक्त नहीं हो सकते। भक्त शब्द के साथ में भगवान् की इच्छाएँ पूरी करने की बात जुडी़ रहती है।



    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email


    अपने दोषों की ओर से अनभिज्ञ रहने से बड़ा प्रमाद इस संसार में और कोई नहीं हो सकता।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सलाह सबकी सुनो, पर करो वह जिसके लिए तुम्हारा साहस और विवेक समर्थन करे।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    परिष्कृत आत्मा ही परमात्मा है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सादगी में ही सज्जनता और सुसंस्कारिता सन्निहित है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email