• सफल सार्थक जीवन
  • प्रगति की आकांक्षा
  • सुव्यवस्थित पारिवारिक संबंध
  • बाल निर्माण
  • मानवीय गरिमा
  • गायत्री और यज्ञ
  • भारतीय संस्कृति
  • धर्म और विज्ञान
  • समय का सदुपयोग
  • स्वस्थ जीवन
  • आध्यात्मिक चिंतन धारा
  • भाव संवेदना
  • शांतिकुंज -21 वीं सदी की गंगोत्री
  • कर्मफल और ईश्वर
  • स्वाध्याय और सदविचार
  • प्रेरक विचार
  • समाज निर्माण
  • युग निर्माण योजना
  • वेदो से दिव्य प्रेरणाये
  • शिक्षा और विद्या
  • क्रोध नाश का मूल है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    समस्त संसार को मित्र की दृष्टि से देखो।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    भाग्य को मनुष्य स्वयं बनाता है, ईश्वर नहीं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    प्रत्येक सद्गृहस्थ का कर्तव्य है कि माता, भगिनी, पत्नी और कन्या के जिस रूप रहे, उसे स्वस्थ, प्रसन्न, शिक्षित, स्वावलम्बी एवं सुसंस्कृत, प्रतिभावान बनाने में कुछ भी कमी न रखें।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जो अपने लिए नहीं औरों के लिए जीते हैं वे जीवनमुक्त हैं ।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    सच्चा सुख- संतोष तब मिलता है, जब मनुष्य अपने आपको परमात्मा का एक उपकरण मानकर विशुद्ध त्याग भावना से परोपकार करता है।



    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    भाग्यवादी ऐसे पंगु है, जो दूसरों के कंधों पर चलता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    नारी अपमान भगवान् नहीं सहते।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    हमारा गौरव नारियों के शरीर सजाने में नहीं, बल्कि उन्हें शक्ति, सरस्वती और साध्वी बनाने में है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    बुराई चाहे थोड़ी ही क्यों न हो चिन्ता की बात है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    जो महापुरुष बनने के लिए प्रयत्नशील है, वे धन्य हैं।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email

    एक सत्य का आधार ही व्यक्ति को भवसागर से पार कर देता है।


    By Pandit Shriram Sharma Acharya
    Share on Google+ Email