Share on Google+ Email
एक स्त्री अपने जीवन में जितना त्याग करती है, पुरुष उतना त्याग सौ जन्मों में भी नहीं कर सकता।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment