Share on Google+ Email
भगवान् के आदर्शों पर चलने का साहस जो दिखाता है, उनके हितों की रक्षा का ध्यान भगवान् स्वयं रखते हैं।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment