Share on Google+ Email
आस्तिकता का दृष्टिकोण अच्छाई को बढा़ना होता है, ताकि बुराई के लिए कोई गुंजाइश न रहे।

Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment
Shravan
2013-12-20 23:35:25
This is very good work