Share on Google+ Email
कर्मयोग का अर्थ है - लोकमंगल के उच्च स्तरीय प्रयोजनों में पुरुषार्थ को नियोजित किए रहना।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment