Share on Google+ Email
ईश्वर प्रेम का मापदण्ड एक ही है -आदर्शों से घनिष्ठ रूप से जुड़ जाना।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment