Share on Google+ Email
अश्लील पोस्टर और गन्दे चित्र स्वयं के अस्तित्व, परिवार और समाज पर लगा कालिख है।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment