Share on Google+ Email
यदि उत्कट इच्छा और अदम्य भावना हो तो मनुष्य बहुत कुछ बन सकता है।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment