Share on Google+ Email
यह संसार एक विद्यालय है, जिसमें प्रवेश लेकर हर प्राणी अपनी प्रतिभा का परिपूर्ण विकास कर सकता है।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment