Share on Google+ Email
जिस शिक्षा में समाज और राष्ट्र की हितचिन्ता के तत्व नहीं है, वह कभी सच्ची शिक्षा नहीं कही जा सकती।



Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment