Share on Google+ Email
आत्मसुधार में तपस्वी, परिवार निर्माण में मनस्वी और समाज परिवर्तन में तेजस्वी की भूमिका निबाहें। अनीति के वातावरण में मूकदर्शक बनकर न रहें।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment
manju sehgal
2014-12-18 07:37:10