Share on Google+ Email
सिर काटने वाला वीर नहीं। वीरता आदर्श के निमित्त अड़ जाने में है।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment
vipin soni
2015-08-18 12:43:09
Aap jaise pathpradarshak ko mera sat sat Naman