Share on Google+ Email
ईष्या आदमी को उसी तरह खा जाती है, जैसे कपड़ों को कीड़ा


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment