Share on Google+ Email
उपलब्धियाँ इस संसार में भरी पड़ी हैं, पर उन्हें प्राप्त करने के लिए ज्ञान, चरित्र एवं साहस चाहिए।


Pandit Shriram Sharma Acharya
Comments

Post your comment