स्वाध्याय और सदविचार

ईर्ष्या आदमी को उसी तरह खा जाती है, जैसे कपड़ों को कीड़ा।

img

Published Quotes