आध्यात्मिक चिंतन धारा

चिंता और चिता में इतना ही अन्तर है कि एक अदृश्य है और दूसरी प्रत्यक्ष।

img

Published Quotes