आध्यात्मिक चिंतन धारा

अपनी प्रसन्नता दूसरे की प्रसन्नता में लीन कर देने का नाम ही 'प्रेम' है।

img

Published Quotes